वाराणसी : काशी सीमा का रेंज बिहार व अन्य राज्यों से जुड़ता है, इसलिए विशेष सतर्कता बरतें : सीएम योगी

वाराणसी : सुबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान उड़न खटोले से वाराणसी पहुंचे। मुख्यमंत्री जौनपुर चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद वाराणसी पहुंचे हैं। चुनावी सभा को संबोधित के बाद वाराणसी हेलीपैड पर उतरे जहां पर उच्चाधिकारी हुआ धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री को जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया। जिसके बाद मुख्यमंत्री सीधे सर्किट हाउस पहुचकर समीक्षा बैठक की।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरी वाराणसी में देश दुनिया आती है। यहां विकास के कार्य तेजी से हुए हैं। कोविड का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है इसके प्रति सजग रहें। ग्रामीण पेयजल हेतु हर घर नल योजना पहुंच रही है। ग्रामीण विद्युतीकरण व्यवस्थित हो इसका थर्ड पार्टी से समीक्षा होगी। पंचकोसी परिक्रमा मार्ग सहित सभी धर्म स्थलों, धर्मशालाओं के सुदृढ़ीकरण व पुनरुद्धार की कार्यवाही हो, ताकि आने वाले श्रद्धालुओ को सुविधा हो और काशी के विकास से परिचित हो।

वाराणसी में बड़े पैमाने पर आरओबी व पुल बन रहे हैं। इनमें सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखा जाए। पीडब्ल्यूडी, जलनिगम, विद्युत आदि समस्त विभाग गुणवत्ता व समयबद्धता से कार्य करें, ताकि कोई प्रश्नचिन्ह नहीं उठे। नीति आयोग के दिशा निर्देशों से सेवापुरी में हो रहे कार्यों को “सेवापुरी मॉडल” प्रत्येक विधानसभा की एक-एक ब्लॉक में जनप्रतिनिधिगण अपने पर्यवेक्षण में लागू कराएं। सेवापुरी में केंद्र सरकार की योजनाओं को अच्छे से लागू किया गया है। राज्य सरकार की योजनाओं को भी प्रभावी रूप से लागू करें। ग्राम पंचायत भवनों को ग्राम सचिवालय के रूप में विकसित करें। इसे ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ें, गांव के समस्त कार्य, गतिविधि को यहीं से संचालित करें।

कोविड से बचाव पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड पर जनपद में अच्छा कार्य हुआ है। लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। पॉजिटिव 5 से नीचे तथा मृत्यु दर एक से कम लाए। कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग तेज करें, ट्रीटमेंट प्रभावी हो, इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल प्रभावी रहे। सर्विलांस सिस्टम तेज हो। जो गांव नगर निगम में आ गए हैं उनके लिए नगर निगम में धनराशि की व्यवस्था की जा रही है। नगर निगम इसमें बुनियादी सुविधाएं करेगा। मिट्टी रॉयल्टी फ्री है। ईट भट्ठा के लिए मिट्टी गाड़ी को पुलिस नहीं रोके।

कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराधियों व माफियाओं पर प्रभावी कार्रवाई हो। काशी सीमा का रेंज बिहार व अन्य राज्यों से जुड़ता है, इसलिए विशेष सतर्कता बरतें। हाईवे या अन्य कहीं भी अवैध वसूली कतई नहीं हो। पंचायत चुनाव आ रहे हैं। गांवो में राजनीतिक प्रतिध्वंता होती है। लोग एक- दूसरे को उकसाते हैं। विवाद बढ़ जाते हैं, इन सब पर ध्यान रखें। अपराधी तत्वों के असलहे निरस्त की कार्यवाही हो। अपराधी व माफियाओं पर प्रभावी कार्यवाही जारी रहे, इसमें किसी भी स्थिति में कहीं भी झुकना, सकना नहीं है। बनारस में गैंगस्टर की अच्छी कार्रवाई हुई, इसे और तेज किया जाए। माफियाओं के अवैध संपत्ति का जब्तीकरण व धवस्थीकरण कार्रवाई चलती रहे। इसमें आने वाला खर्चा उसी व्यक्ति से वसूला जाए। महिलाओं व धर्म गुरुओं पर दुर्व्यवहार का यदि कोई प्रकरण संज्ञान में आता है तो तत्काल प्रभावी कार्रवाई करें।

सोशल मीडिया पर नजर रखी जाए। अफवाह या उकसाने वाली खबरों पर कार्यवाही हो। महिला सुरक्षा व स्वावलंबन हेतु मिशन शक्ति चल रहा है, इसमें जागरूकता का बड़ा रोल है इसकी हर विभाग जो इससे जुड़े अपनी-अपनी समीक्षा करें। पेशेवर अपराधी जो महिला सुरक्षा में सेंध लगाने का प्रयास करते हैं उन पर प्रभावी कार्यवाही करें। ऐसे अपराधियों के पोस्टर चौराहे पर लगेंगे। कोर्ट में अच्छी पैरवी कर अपराधियों, माफियाओं को न्यायालय से दंडित कराने की कार्रवाई कराएं। अपराधी को कानून का भय हो। चार्ज शीट समय पर दाखिल हो।

पर्व-त्योहारों पर विशेष सावधानी रखी जाए। पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगातार चले, जिसमें कोविड से बचाव, महिला सुरक्षा व सड़क सुरक्षा का मैसेज प्रसारित होता रहे। अपर पुलिस महानिदेशक ने जोन में तथा एसएसपी ने जनपद में हुई कानून व्यवस्था, अपराधियों एवं माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही का प्रस्तुतीकरण किया। 200 पुलिसकर्मी असलहो सहित ऐसे व्यापारिक संस्थाओं जहां पैसो का ट्रांजेक्शन ज्यादा होता है जैसे-सर्राफा मार्केट आदि पर त्योहारों में लगाए गए हैं। मिशन शक्ति में एक सप्ताह में 76500 महिलाओं से संपर्क कर जागरूक किया गया। 759 लोगों पर एंटी रोमियो टीम ने कार्यवाही की। माफियाओं की करोड़ों रुपए की संपत्ति जब्त की गई।

बैठक में मा0 जनप्रतिनिधियों से सुझाव लिए गए और उनके द्वारा बताए कार्यों को क्रियान्वित करने हेतु संबंधित अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया। बैठक में उत्तर प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, एमएलसी अशोक धवन, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह के अलावा एडीजी बृजभूषण, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, आईजी विजय सिंह मीणा, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, एसएसपी अमित पाठक सहित अन्य विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *