April 12, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : गठबंधन और बने बिगड़े का कोई प्रसंग नही है देश मे, क्योकि देश का चुनाव एक नए रूप में हो रहा है : प्रदेश अध्यक्ष

वाराणसी : लोकसभा चुनाव के ऐलान के बाद सभी पार्टियों के नेता जमकर प्रचार प्रसार में जुट गए हैं। इसी क्रम में वाराणसी पहुचे उत्तर प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष डॉ0 महेंद्रनाथ पाण्डेय ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि गठबंधन और बने बिगड़े का कोई प्रसंग नही है देश में, क्योकि देश का चुनाव एक नए रूप में हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद मोदी देश के सजग चौकीदार को हिंदुस्तान राज सेवा सौपने जा रहा है। उनके सामने सारे दल चमक खोकर श्रीहीन हो गए हैं। नरेंद्र मोदी के आगे सभी गठबंधन अप्रासंगिक हो गए हैं। गठबंधन बने बिगड़े कोई फर्क नही पडता।

वही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने 31 मार्च 2020 तक राहुल गांधी द्वारा 2 लाख नौकरी देने के वादे पर कहा कि झूठ बोलना, कोपल कल्पना करना और फालतू आश्वासन देना कांग्रेस की पुरानी फितरत है। उनके इन बातों पर जनता का भरोसा नही है।

वही हेमा मालिनी द्वारा मथुरा में खेत की कटाई का फोटो-वीडियो ट्रोल करने के सवाल पर डॉ पाण्डेय ने कहा कि हेमा मालिनी मथुरा की जनता से दिल से जुड़ी हुई है और हेमा मालिनी प्रचार अभियान के दौरान खेत काटने वाली महिलाओं के साथ अपना लगाव प्रदर्शित किया हैं। इसके लिए हेमा मालिनी का अभिनंदन है।

इस दौरान मुलायम सिंह यादव के आज नामांकन में शिवपाल के पहुँचने पर कहा कि दोनो भाइयों का पुराना साथ है। मिलकर शुभकामनाएं आदान-प्रदान किये है तो किसी को एतराज नही होना चाहिए।

भगोड़े विजय माल्या के आरोप कि ज्यादा रुपये मोदी सरकार द्वारा वसूलने के आरोप और हांथ धोकर पीछे पड़ने के ट्वीट पर कहा कि वे देश का भगोड़ा है। नरेंद्र मोदी ने कहा है कि विजय माल्या और नीरव मोदी ही नही उनको जेल के दरवाजे तक पहुँचा चुका हूं बस अंदर डालना बाकी है। ऐसे सभी भगोड़े भ्रष्टाचारियों को नरेंद्र मोदी छोड़ने वाले नही है।

वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शराब वाले बयान पर रालोद के महासचिव जयंत चौधरी के बयान कि 1500 करोड़ के भाजपा कार्यालय की ईंट उखाड़ लेने पर महेंद्र पांडेय ने कहा कि जिस दल के वे नेता है, उनकी जमीन ही खिसक चुकी है। जमीन खो चुके है। वे आत्म समीक्षा करें। जनता ही उनको गंभीरता से नही ले रही तो ऐसे लोगो को गंभीरता से लेने का वक्त हमारे पास नही है।

मायावती का चंद्रशेखर पर बयान बताता है कि मायावती दलित वोट को खो चुकी है और उनकी जमीन खिसक चुकी है। दलित देख रहा है कि मेरे नाम पर दौलत वसूलने वाली और 38 कि 38 टिकट पैसे वालो को बेचने वाली और दूसरी ओर नरेंद्र मोदी दलितों का पांव नरेंद्र मोदी धो रहे हैं। इसलिए मायावती अग्रिम में बयान देकर बचने का रास्ता ढूंढ रही है।

देखे वीडियो

You may have missed