November 24, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : मामूली विवाद को लेकर युवक की गोली मारकर हत्या

वाराणसी : लंका थाना क्षेत्र के मलहिया में स्थित गायत्री नगर चौराहे पर मामलू विवाद को लेकर युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मौके पर स्थानीय लोगों ने हमलावर को पकड़कर पीटने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। घायल युवक को लेकर लोग बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना को जानकारी मिलते ही एसपी अमित पाठक, एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी और लंका पुलिस ट्रामा सेंटर पहुंची। वही मृतक युवक के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया। रोते बिलखते परिजन ट्रामा सेंटर पहुंचे। इस दौरान उनकी पुलिस से नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया।

क्या है मामला…

दरअसल, रमना गांव के मलहिया के गायत्री नगर निवासी अनिल यादव उर्फ गोरख (30 वर्ष) चौराहे के पास मोमोज खाने पहुंचा था। सामने घाट मारुति नगर निवासी रोशन द्विवेदी भी अपने सफारी से मोमोज खाने पहुंचा। गाड़ी खड़ी करने को लेकर दोनों में विवाद हुआ। रोशन ने पिस्टल से अनिल पर गोलियां चला दीं। ताबड़तोड़ चार गोलियां अनिल उर्फ गोरख को मारी गईं। हमला करने के बाद जब तक रोशन भाग पाता उससे पहले ही लोगों ने उसे पकड़ कर पीटने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों को लेकर ट्रामा सेंटर पहुंची। जहां डॉक्टरों ने अनिल को मृत घोषित कर दिया, जबकि प्राथमिक इलाज के बाद रोशन को गिरफ्तार करके पुलिस थाने ले आई।

हरतालिका तीज की पूजा कर रही थी पत्नी

इसकी जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। घटना उस वक्त हुई जब अनिल की पत्नी उसकी सलामती के लिए घर में हरतालिका तीज का पूजन कर रही थी। पूजन के दौरान ही गोली लगने की सूचना परिवार को मिली। जहां पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल था।

पत्नी ने बाहर जाने को किया था मना, नहीं मानी बात

पत्नी रेखा ने बताया कि वह हरतालिका तीज व्रत का घर में पूजन करने के लिए जा रही थी। अनिल को बाहर जाने से काफी रोकी। कहा, वह पूजा में शामिल हो जाएं, बाहर न जाएं, लेकिन उनको जबरी मौत लेते गई। पति पर हमला होने की जानकारी होते ही रेखा पूजा छोड़कर लाठी लेकर हाथ में मौके पर पहुंच गई। उससे पहले ही स्थानीय लोगों ने आरोपी रोशन को पुलिस के हवाले कर दिया था।

पिस्टल लेकर मोमोज खाने गया था रोशन

स्थानीय लोगों का कहना है कि हमलावर रोशन द्विवेदी ने जिस पिस्टल से गोली मारी वह उसके भाई सोनू द्विवेदी के नाम है। अपने भाई की लाइसेंसी पिस्टल लेकर घर से एक किलोमीटर दूर गायत्री नगर चौराहे पर वह मोमोज खाने पहुंचा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मौके पर सोनू द्विवेदी भी मौजूद था।

वारदात के बाद उसने भी दहशत फैलाने के लिए अपने दूसरे लाइसेंसी असलहे से तीन-चार राउंड फायर किया था। रोशन मूल रूप से चंदौली जिले के चकिया थाना क्षेत्र के लालपुर गांव का रहने वाला है। उसका बड़ा भाई सोनू द्विवेदी ग्राम प्रधान है। वह आईटीआई कॉलेज का संचालन भी गांव से ही करता है।

मारा गया अनिल पर लूट सहित कई मुकदमें

पुलिस के मुताबिक, मलहिया गायत्री नगर के रहने वाले अनिल के पिता हीरा यादव की पहले ही संदिग्ध मौत हो चुकी है। तीन बेटों में अनिल सबसे छोटा था और अपने भाइयों के साथ बीएचयू विश्वनाथ मन्दिर पर गायत्री कैफे की दुकान है। अनिल के ऊपर लंका थाने में चार लूट मारपीट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है और नवंबर में लूट के मामले में जेल से छुटा था।