April 10, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव मंदिर किया दर्शन-पूजन, निर्माण कार्यों का लिया जायजा

वाराणसी। केंद्रीय पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस एवं इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान अपने एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुचें है। एयरपोर्ट पर उतरने के बाद उन्होंने घरेलू गैस के दामों में वृद्धि का कारण ठण्ड को बताया वहीं बाबा काल भैरव का दर्शन कर उन्होंने पेट्रोल मूल्‍य वृद्धि‍ के लि‍ये कोरोना महामारी को जि‍म्‍मेदार ठहराया है।

काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव मंदिर में लगाई हाजरी

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इसके पहले विधि विधान से बाबा काल भैरव का दर्शन पूजन किया। इसके बाद केंद्रीय मंत्री ने सपरि‍वार श्रीकाशी वि‍श्‍वनाथ दरबार में हाजि‍री लगायी। इस दौरान यहां बन रहे वि‍श्‍वनाथ धाम का नि‍रीक्षण भी कि‍या। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज भारत में शान्ति, अमन चैन और सभी विकास पर अग्रसर हो उसकी बाबा कालभैरव से प्रार्थना की गयी है। देश भी ठीक चलेगा और राज्य भी ठीक चलेगा।

पेट्रोल मूल्य वृद्धि पर बोले दाम बढ़ोत्तरी के दो कारण

वही मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पेट्रोल मूल्य वृद्धि को लेकर कहा कि दो कारणों से अभी दिक्कतें दिख रहीं हैं और हमें लगता है कि वो भी ज़्यादा समय तक नहीं रहेगा। अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में जैस ही उत्पादन थोड़ा बढ़ेगा हमारी उम्मीद है कि उसके बाद मूल्यों में थोड़ा नरमी आएगी।

उन्होंने कहा कि दाम बढ़ोत्तरी के दो मूल कारण हैं एक तो कोरोना के कारण उत्पादन में कटौती हुई थी। उत्पादनकारी देश तेल उत्पादन कम किये थे। उन दिनों में तेल उत्पादन काम करने का एक प्रमुख कारण था, आवश्यकता यानी डिमांड नहीं थी। कैबिनेट मिनिस्टर ने कहा कि जनवरी, फरवरी में जो आवश्यकता है उसे पूरा करने के लिए अभी उत्पाद नहीं हुआ है। ये एक प्रमुख कारण है।

वही केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दूसरा कारण बताते हुए कहा कि जिस प्रकार सरकारों के खर्चे बढे हैं। चाहे वो केंद्र की हो या राज्यों की. कोरोना की महामारी की विभीषिका के कारण अर्थनीति ठप्प हो गयी थी। लोगों  दिलवाना, लोगों स्वास्थ्य की चिंता करना, विकास के कार्यों में तेज़ी लाना, अर्थनीति को पटरी पर लाना। इससे सरकारों का व्यय बढ़ा है, जिसकी वजह से टैक्स बढ़ा है और इससे लोगों को भी कष्ट है, लेकिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपील की है केंद्र और राज्य सरकार मिलकर इसमें रास्ता निकालेंगे।

अपने ही दिए हुए बयान पर दी सफाई

अपने एयरपोर्ट पर दिए गए बयान पर सफाई देते हुए धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि अमेरिका के अंदर बर्फीले तूफ़ान के कारण पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स का उत्पादन बंद हो गया है। यूरोप के देश जहां एलपीजी की खपत ज़्यादा होती है। वहां डिमांड बढ़ जाती है, जब डिमांड बढ़ जाती है तो स्वाभाविक है प्राइज़ बढ़ जाता है। अभी एलपीजी का प्राइज़ बढ़ने का एक ट्रेंड है। नवम्बर से लेकर फरवरी तक दाम अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में बढ़ा रहता है। इसी को मैंने कोट किया था। 

वित्त मंत्री के बयान की ”धर्मसंकट है दाम कम करना” पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सही कहा वित्त मंत्री ने… दुविधा है। एक हाथ में 35 हज़ार करोड़ रुपये के टीकाकरण योजना, साढ़े 5 लाख करोड़ रुपये की भारत सरकार की विकास की जवाबदेही, राज्यों को देनदारी, ये सारा विषय एक तरफ और दूसरी तरफ लोगों पर महंगाई का बोझ न पड़े उसी के अंदर वित्त मंत्री बैलेंस खड़ा करेंगे। राज्यों से भी बात की जायेगी और कुछ न कुछ हल निकाला जाएगा।

You may have missed