November 26, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : BHU की इस छात्रा ने राम और कृष्ण के अक्षरों से बना दी अनोखी पेंटिंग

काशी हिंदू विश्वविद्यालय की छात्रा ने एक अनोखी पेंटिंग बनाई है। जिसमें उन्होंने लाल और नीले रंगो के पेन से “राम एवं कृष्ण के अक्षरों से एक अद्भुत पेंटिंग” बनाई है। जिसे उन्होंने श्री कृष्ण जन्मोत्सव पर समर्पित किया है।

वाराणसी : अलग अलग विधाओं में चित्रकला बनाने में मशहूर एवं दो-दो बार वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाली नेहा सिंह ने इस कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर राम जन्म भूमि में शिलान्यास के अवसर पर “राम” शब्द 2100 बार एवं “कृष्ण” शब्द 1100 बार खुद पेन से हाथों से लिख लिखकर करीब 2/2 फ़ीट की एक पेंटिंग बनाई है जो अत्यंत सराहनीय है। इस लॉकडाउन में घर पर बैठकर बनाई गई यह कला सृष्टि। पेंटिग में एक गाय के बच्चे को निहारते हुए कृष्ण को दिखाया गया है।

इस संदर्भ में नेहा का कहना है कि वैदिक अध्य्यन के दौरान कई ऐसी ज्ञानवर्धक बातें जानने को मिलती रहीं हैं जो संपूर्ण मानव जीवन के लिए कल्याणकारी है। केवल 3 मंत्रों के “कलिसंतरणोपनिषद्” में ‘कलियुग’ के दुष्प्रभाव से पार होने का सुगम उपाय वर्णित हैं। इस उपनिषद् में कलियुग में कष्टों का निवारण के लिए “राम” तथा “कृष्ण” नाम लेने के प्रभाव को 16 अक्षर वाले – “हरे राम हरे राम, राम राम हरे हरे। हरे कृष्ण हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण हरे हरे ” इस मंत्र द्वारा समझाया गया है।

इस बार रामराज की पहली जन्माष्टमी है इसलिए “रामराज में कृष्णजन्मोत्स्व” नामक चित्र को बनाया है। इस कृति की साइज करीब 2/2 फ़ीट है जो पेपर पर बनी है, चित्र में कहीं भी रंगो का प्रयोग नहीं हुआ है। यह केवल “राम” तथा “कृष्ण” नाम लिख कर बनाया गया है, जिसमें २१०० बार राम नाम तथा ११०० बार कृष्ण नाम लिखा गया है।

नेहा सिंह इस समय वैदिक विज्ञान का अध्ययन काशी हिंदू विश्वविद्ध्यलाय से कर रही हैं। नेहा की बहुत से अलग अलग विधाओं में कला सुर्खियों में रहती हैं, कभी मसालों से, तो कभी पत्तियों से, तो कभी अगरबत्ती की राख से।

अन्य तस्वीरें