January 27, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : कृषि विज्ञान संस्थान में आयोजित 5वीं कृषि अनुसंधान कांग्रेस का समापन हुआ

वाराणसी : काशी हिन्दू विश्वविद्यालय स्थित कृषि विज्ञान संस्थान तथा उत्तर प्रदेश कृषि अनुसंधान परिषर के संयुक्त तत्वाधान में किसानों की आय बढ़ाने तथा जल संरक्षण विषय पर उत्तर प्रदेश की 5वीं कृषि अनुसंधान कांग्रेस के समापन हुआ। समापन समारोह के मुख्य अतिथि कृषि राज्य मंत्री लाखन सिंह राजपूत ने किसानों का आहवाहन किया की वैज्ञानिक संगोष्ठीयों मे एक जिज्ञासु के रूप में भाग लेकर अपनी समस्याओं का समाधान करें। उर्वरको के बढ़ते प्रयोग और उसके प्रभावों पर चिंता व्यक्त करते हुए माननीय मंत्री ने किसानों का ध्यान जैविक खेती की तरफ आकर्षित किया।

छुट्टा पशुओं विशेष रूप से गायों के उपयोग पर चर्चा करते हुए कृषि राज्य मंत्री ने कहा की गाय के गोबर और मूत्र का संवर्धन करके किसान-मित्र जीवाणुओं की संख्या खेतो में बढ़ाई जानी चाहिए। इनके प्रयोग से रसायनिक उर्वरकों के मृदा एवं मानव स्वास्थ पर पड़ने वाले कुप्रभावों को कम करने तथा किसानों की आयु बढ़ाने में सफलता मिलेगी। उन्होने किसानों को सलाह दी की मृदा स्वास्थ कार्ड को अपने स्वास्थ कार्ड के समान ही समझे और इसके उपयोग से संतुलित मात्रा में उर्वरकों का प्रयोग करें जिससे मृदा स्वास्थ बना रहे और किसानों की आमदनी भी बढ़ सकें।

मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहाकार के0वी0राजू ने बताया की राज्य के सभी मंत्री प्रबंध गुरुओं से अच्छे प्रबंधन का दिशा निर्देश प्राप्त कर रहे है जिससे प्रदेश की अर्थ व्यवस्था को एक ट्रिलिंयन तक पहुचाया जा सकें। उत्तर प्रदेश कृषि अनुंसधान परिषर के महा निदेशक डाँ विजेन्द्र सिंह ने तीन द्विवसीय काग्रेस के विभिन्न सत्रों में प्रस्तुत शोध पत्रों, नितिगत विचारों तथा कृषि प्रसार पर की गयी चर्चा से उपस्थित मुख्य अतिथि तथा किसानों को अवगत कराया। उत्तर प्रदेश कृषि अनुसंधान परिषर के अध्यक्ष कैप्टन विकास गुप्ता ने बताया कि परिषद कृषि शिक्षा शोध एवं प्रसार के लिये कृषि विश्वविद्यालयों को हर संभव आर्थिक एवं नीतिगत सहायता प्रदान करने में लगी हुई है।

इस अवसर पर विशिष्ठ शोध के लिये कृषि वैज्ञानिकों प्रो0 डी0सी0राय, प्रो0 आर0के0सिंह तथा उत्कृष्ट फसल उत्पादन, पशु पालन और फल उत्पादन तथा मधुमख्खी पालन में श्रेष्ठ कार्य करने वाले किसानों जिसमें 90 प्रतिशत महिलाएं सामिल है को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कृषि वैज्ञानिक डाँ रघुरमन द्वारा कीट विज्ञान पर लिखी गई पुस्तक का विमोचन मुख्य अतिथि द्वारा किया गया कार्यक्रम में आये सभी अतिथियों, वैज्ञानिकों तथा किसानों का स्वागत एवं अभिनन्दन कृषि संस्थान के निदेशक प्रो0 रमेश चन्द्र तथा धन्यवाद ज्ञापन आयोजन सचिव प्रो0 पवन कुमार सिंह ने किया।

You may have missed