January 27, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : नीति आयोग ने सेवापुरी विकासखंड क्षेत्र के लोगो में बिहेवियरल चेंज लाने हेतु आगामी 6 से 8 माह का दिया टास्क

वाराणसी। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि प्रधानमंत्री का सपना है कि एक ब्लाक को 100 फीसदी सेचुरेशन के साथ बिहेवियरल चेंज करते हुए एक आर्दश गांव का माडल प्रस्तुत करे। फिर उसे प्रदेश व देश के अन्य ब्लाकों में लागू कराया जाये। उन्होंने जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा तथा मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी को अच्छे मार्गदर्शन एवं कार्य के लिए बधाई देते हुए सभी अधिकारियों व डेवलपमेंट पार्टनर्स को भी बधाई दी और कहा कि सब मिलकर ऐसा कार्य करें ऐसा आदर्श गांव बनायें कि आगे यहां की जनता इसे चलाये।
      
सचिव ग्राम विकास एन.एन.सिन्हा ने कहा कि आउट कम्स लाने का प्रयास किया जाय और उसकी ट्रैकिंग करें। इम्लिमेंटल प्रासेस व प्रोग्रेस को मानिटर किया जाय। गांव के वालंटियरों, पंचायतीराज संगठन के लोग मिलकर जनांदोलन बनाकर बिहेवियरल चेंज लायें और इसे एक चैलेंज के रूप में लें। समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर सबका विकास होना चाहिए। इसकी मानिटरिंग की जाय। बीएचयू के साथ मिलकर रीज़निंग वर्कशॉप आयोजित करके व्यवहार परिवर्तन करें और प्रधानमंत्री की परिकल्पना को 6 से 8 महीनों में पूरा करके दिखायें।
       
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा द्वारा बैठक के दौरान सेवापुरी ब्लाक के संतृप्तीकरण के कार्यों का प्रोजेक्टर के माध्यम से विभिन्न विभागों के केपीआई का विवरण प्रस्तुत किया गया। जिसमें हेल्थ, सेनिटेशन, न्यूट्रीशन एण्ड एजुकेशन में क्या क्या कार्य किये गये और आगे कौन से प्रयास जारी हैं। 371 लोगों को स्किलनेस सर्टिफिकेट दिया गया है, बैंकिंग कोरेस्पान्डेंट (बैंक सखी) का डिजिटल पेमेंट सुविधा घर पर मुहैया करायेंगी। आर्गेनिक फार्मिंग में 141 कृषक तैयार हैं, लांच आफ पेरेंट्स हैण्ड बुक फार रमिडियल लर्निंग का कार्य हो रहा है, अर्ली सर्वाइकल कैंसर स्क्रीनिंग कार्य का एमओयू आज होमी भाभा कैंसर अस्पताल के साथ किया जायेगा। स्वच्छता मेला आगामी दो माह में सेवापुरी में लगाया जाएगा। जिसमें हेल्थ विभाग, ग्राम विकास, शिक्षा व पंचायती विभाग मुख्य रुप से होंगे।
      
स्वास्थ्य विभाग के कार्यों का विवरण मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रस्तुत किया गया। इस दौरान कम्युनिटी पार्टिसिपेशन से अवेयरनेस बढ़ाने और बिहेवियर चेंज का अभियान चलाने पर नीति आयोग के चेयरमैन द्वारा जोर दिया गया। पूरे सेवापुरी ब्लाक का सेचुरेशन 100 फीसदी चार महीने में पूरा किया जाना है सभी विभागों द्वारा। मलेरिया कालाजार का शत प्रतिशत स्क्रीनिंग करायें। निजी अस्पतालों को उनके नर्सिंग होम में जन्मे बच्चों की सूचना स्वास्थ्य को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

न्यूट्रीशन का विवरण प्रस्तुत करते हुए बताया कि घरेलू खाद्य चीजों से इलाज, पोषण वाटिका, किशोरियों का शंका समाधान आदि के विषय में सीडीपीओ ने बताया। पूछे जाने पर बताया गया कि  265 आंगनवाडी जिले में हैं। शिक्षा विभाग के किये गये कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि 70 फीसदी बच्चों का इनरोलमेंट हुआ है। युवा पथिक और टीचर का उपयोग करते हुए अभियान चला कर पेरेंट्स की ट्रेनिंग करायी गयी तथा उनसे प्रतिदिन सम्पर्क कर काउंसिलिंग कर रहे हैं उनको मोटिवेट करने का कार्य किया जा रहा है। स्मार्ट क्लास 14 हैं इसके लिए ट्रेनर भी तैयार किये गये हैं। नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए गाइड बुक उपलब्ध करायी गयी है। क्वालिटी लर्निंग के लिए भी हर स्तर पर कार्य जारी है।
       
जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि 35 हजार परिवारों के लिए पूरे सेवापुरी में 25 हजार डस्टबिन लगाये गये हैं। सफाई कर्मियों और कम्युनिटी के द्वारा कूड़ा निस्तारण किया जा रहा है। डब्ल्यूएसपी से जोड़ा जा रहा है, 19 डब्ल्यूएसपी पर कार्य जारी है। कम्युनिटी टायलेट 100 फीसदी पूरा हो चुका है। इसके अलावा गांव के कामगारों को जैसे कार्पेंटर, प्लम्बर, पेंटर तथा इलेक्ट्रीशियन आदि कार्य करने वालों को रिफ्रेशर कोर्स करा कर उन्हें सर्टिफिकेट दिया गया तथा 50 फीसदी लोगों को गांव में ही सरकारी व निजी कार्य देने की बाद्यता की गई है। मौके पर 252 महिलाओं को मारवाड़ी युवा मंच द्वारा उपलब्ध कराई गई पोषण पोटली प्रदान की गई।
     
सीईओ द्वारा मौके पर आशाओं को टैब दिया गया, पेरेंट्स हैण्डबुक लांच की गई तथा ग्राम प्रधान फैसिलिटेशन पुरस्कार दिया गया। बैठक का कुशल संचालन पीडी (डीआरडीए) उमेशमणि तिवारी द्वारा किया गया।

बैठक में डा.शेखर बोनू डीजी (डीएमईओ), सचिव श्री एन.एन.सिन्हा नीति आयोग, गया प्रसाद (उप महानिदेशक), सुजीत कुमार (मिशन निदेशक), सीएमओ सहित सभी सम्बंधित अधिकारी व डेवलपमेंट पार्टनर्स के पदाधिकारी उपस्थित रहे।
      
तत्पश्चात सीईओ अमिताभ कांत ने हाथी गांव में मुहल्ला स्कूल का निरीक्षण किया तथा आयुष्मान भारत हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर भी देखा।

You may have missed