May 9, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : आईपीडीएस के तहत बीएचयू को भी शामिल करने संबंधी प्रस्ताव बनाकर विद्युत विभाग शासन को भेजें : सीएम

वाराणसी : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को स्थानीय सर्किट हाउस सभागार में अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अब लॉकडाउन खत्म हो गया है, कोविड-19 में पूरी सतर्कता बरतते हुए विकास कार्यों में पूरी गति लाने की आवश्यकता है।

वाराणसी रिंग रोड के किनारे के क्षेत्रों में व्यवस्थित विकास के लिए भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई की उचित प्रक्रिया कराते हुए वहां अलग-अलग कार्यों व अवस्थापनाओ के क्लस्टर बनाए जा सकते हैं। जैसे कि वहां ट्रांसपोर्ट, मेडिकल हब आदि व्यवस्थित ढंग से बनाए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहां की आईपीडीएस के तहत बीएचयू को भी शामिल करने संबंधी प्रस्ताव बनाकर विद्युत विभाग शासन को भेजें। गोदौलिया, सर्किट हाउस व टाउन हॉल तथा बेनियाबाग में बनाई जा रही मल्टीलेबल व भूमिगत पार्किंग स्थलों के पास मूलभूत सुविधाओं के साथ ही कमर्शियल एक्टिविटी की सुविधाएं भी विकसित करें। जिसमें फूड कोर्ट, मनोरंजन आदि के साधन भी हो।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय पांडेपुर परिसर में 50 सैयायुक्त महिला चिकित्सालय का निर्माण कार्य किसी भी दशा में अक्टूबर तक पूर्ण कराने के निर्देश उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर को दिए। उन्होंने जल निगम के मुख्य अभियंता को कड़े निर्देश देते हुए कहां की शाही नाले के जीर्णोद्धार में अब किसी भी प्रकार की हीलाहवाली नहीं होनी चाहिए और प्रत्येक दशा में मार्च तक कार्य पूर्ण करा लें।

पुरानी काशी के काल भैरव, कामेश्वर महादेव, राजमंदिर, जंगमबाड़ी एवं दशाश्वमेध वार्डों में पुनर्निर्माण के कार्य के साथ ही जिन गलियों में आईपीडीएस के तहत कार्य नहीं हो पाए हैं, उसमें नगर निगम से तालमेल बैठाते हुए आईपीडीएस के तहत तारों को व्यवस्थित रूप से अंडरग्राउंड कराने का कार्य कराएं।

मुख्यमंत्री ने निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में साफ-सफाई की और अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित करें। जहां कहीं भी गंदगी पाई जाए जवाबदेही तय किया जाए। प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लगाएं। स्वच्छता के साथ कोई समझौता नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कड़े लहजे में कहा कि शनिवार व रविवार की बंदी स्वच्छता के लिए निर्धारित की गई है। इसमें युद्ध स्तर पर सफाई कार्य किए जाएं। हर वार्ड और गांव के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करें।

उन्होंने कहा कि काशी में वर्तमान में लगभग 10 हजार करोड़ लागत की परियोजनाओं पर कार्य हो रहा हैं। मैन पावर बढ़ाकर गुणवत्ता व समयबंधता के साथ कार्य समय से पूर्ण कराएं। काशी को काशी के अनुरूप बनाना है। यहां के सेवाकाल को सौभाग्य में बदलें।

काशी को मा० प्रधानमंत्री के विजन के अनुरूप मूर्तरूप दे। इस दौरान बताया गया कि भगवान बुद्ध के प्रथम उपदेश स्थल के रूप में विश्व प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल सारनाथ में सितंबर 2020 तक साउंड एंड लाइट शो प्रोजेक्ट पूर्ण हो जाएगा। इससे राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पर्यटक रात्रि में भी भगवान बुद्ध के जीवन चरित्र एवं उपदेशों को बड़े ही मनोहर छटा के साथ जान सकेंगे।

सारनाथ में धमेक स्तूप, चौखंडी स्तूप, संग्रहालय तथा विभिन्न देशों के बौद्ध मंदिर स्थित हैं। अभी पर्यटक सामान्यता सूर्योदय से सूर्यास्त तक इन स्थलों पर जाते हैं। साउंड एंड लाइट शो प्रोजेक्ट से अब रात्रि में भी पर्यटक आकर्षक झांकियों का आनंद उठा सकेंगे। यह प्रोजेक्ट 7 करोड़ 88 लाख 47 हजार की धनराशि से पूर्ण किया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड काल में बनारस में हुए कार्यों की सराहना की। इसमें स्वयं भी बचना है व दूसरे को भी बचाना है। पुलिस अब कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें। जनता के प्रति सम्मान, जनप्रतिनिधि का सम्मान व अच्छा बर्ताव हो इससे अच्छा संदेश जाता है। किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करें। किसी को अनावश्यक परेशान न किया जाए। किसी के साथ दुर्व्यवहार स्वीकार नहीं होगा।

टॉप टेन अपराधियों पर जनपद स्तर व थाना स्तर की कार्रवाई अभियान के रूप में करें। अपराधी को जेल दिखाएं। अपराधियों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर जब्त करें। उनके अवैध निर्माण ध्वस्त किए जाएं। आगामी त्योहारों को देखते हुए सोशल मीडिया पर नजर रखें। कोई अफवाह नहीं पहले। अधिकारी/कर्मचारी समय से कार्यालय उपस्थित रहे। अधिकारी फील्ड में निकले। जन समस्याओं का समाधान करें।

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को और बेहतर करने पर मुख्यमंत्री ने जोर दिया। सभी संवेदनशील जगह व चौराहों पर सीसीटीवी कैमरा लगाएं। पुलिस नियमित पेट्रोलिंग करें। कोविड-19 से बचाव रखते हुए सभी को बेहतर प्रदर्शन करना होगा।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के पर्यटन संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभा डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल सहित कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित अन्य पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से गतिमान परियोजनाओं के प्रगति की विस्तार से प्रस्तुति की।