वाराणसी : फ्रांस के राजदूत ने बीएचयू के कुलपति से की मुलाकात

वाराणसी : भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुयल लेनियां ने आज काशी हिंदू विश्वविद्यालय(बीएचयू) के कुलपति प्रो. राकेश भटनागर से मुलाकात की। कुलपति व फ़्रांस के राजदूत के बीच विभिन्न विषयों ख़ासतौर से काशी हिन्दू विश्वविद्यालय व फ्रांस के विश्वविद्यालयों के बीच सहयोग बढ़ाने पर व्यापक विचार विमर्श हुआ।

जिसमें कुलपति ने फ्रांसीसी राजदूत को बताया कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय भारत के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में से एक है और देश ही नहीं, दुनिया भर से छात्र यहां अध्ययनरत हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय को इन्स्टिट्यूट ऑफ एमिनेंस का दर्जा प्राप्त हुआ है जिससे यहां शिक्षा, शोध व अनुसंधान व नवाचार के लिए सुविधाओं व ढांचागत व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाने का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। कुलपति ने बताया कि छात्रों व शिक्षकों को उत्तम स्तर की सुविधाएं मुहैया कराने के लिए विश्वविद्यालय ने कई क़दम उठाए हैं।

फ्रांस के राजदूत ने फ्रांसीसी अध्ययन विभाग और बीएचयू में पढ़ रहे फ्रांस के छात्रों के बारे में जानकारी लेने में खासी रूचि दिखाई। कुलपति और फ्रांस के रादजूत ने महसूस किया कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय व फ़्रांस के शिक्षण संस्थानों के बीच सहयोग को और बढ़ाने की अपार संभावनाएं हैं। इस दौरान फ़्रांस के राजदूत ने फ्रांसीसी अध्ययन विभाग का भी दौरा किया। उनके साथ भारत में फ्रांस के दूतावास में आंतरिक नीति की द्वितीय काउंसलर ओलिविया बैलमेर भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर कुलगुरू प्रो. वी. के. शुक्ला, कुलसचिव डॉ. नीरज त्रिपाठी, फ्रांसीसी अध्ययन विभाग के प्रमुख प्रो. डी. के. सिंह एवं अंतरराष्ट्रीय केन्द्र के समन्वयक प्रो. एस. पी. माथुर भी इस मुलाकात के दौरान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *