December 3, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : 8 जून से नही खुलेंगे धार्मिक स्थल, होटल और मॉल के लिए डीएम ने जारी की गाइडलाइंस

वाराणसी : बनारस में धार्मिक स्थल, होटल और मॉल सोमवार को नही खुलेंगे। रेस्टोरेंट्स सोमवार से लेफ्ट राइट के नियम के अनुसार खुल सकेंगे पर केवल 50% ग्राहकों को बैठने की सीट ही वो लगा सकेंगे। ये जानकारी वाराणसी जि‍लाधि‍कारी कौशल राज शर्मा की ओर से जारी की गयी है।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया है कि‍ जिन रेस्टोरेंट में 50% से ज्यादा लोग पाए जाएंगे उन्हें 30 जून तक पुनः बंद करा दिया जाएगा। ये रेस्टोरेंट होम डिलीवरी भी करा सकते हैं। होम डिलीवरी करने वाले कर्मचारियों की प्रतिदिन थर्मल स्क्रीनिंग उन्हें करनी आवश्यक होगी। यही कार्य होम डिलीवरी कंपनियों को भी करना होगा। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप धार्मिक स्थल, होटल और मॉल जो भी निर्धारित व्यवस्थाएं पूरी कर चुके हैं और उन्हें खोलना चाहते है, उनके प्रबंधक एक चेक लिस्ट भर कर अपने क्षेत्र के थाने में जमा कर दें।

इसकी चेक लिस्ट एडीएम सिटी के द्वारा जारी की जा रही है और थानों को भेजी जा रही है। थाने से इसकी सूचना क्षेत्र के एसीएम और सीओ द्वारा ली जाएगी और परिसर का निरीक्षण कराया जाएगा या स्वयं किया जाएगा। इससे चेक लिस्ट के अनुसार सभी व्यवस्थाएं लागू की जा रही हैं या नहीं यह चेक किया जाएगा।

निरीक्षण में सन्तुष्टि के अनुसार इन परिसरों को निरीक्षण से अगले दिन से खोलने की अनुमति दी जाएगी। जिनके मानक पूरे नहीं होंगे उन्हें परिसर खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी और व्यवस्थाएं लागू करने का और समय दिया जाएगा। निरीक्षण सोमवार से शुरू होंगे। जि‍लाधि‍कारी ने जन सामान्य को सूचित किया है कि किसी भी होटल, मॉल या धार्मिक स्थल पर जानकारी करके ही जाएं कि वह स्थान खुल गया है या नहीं। इसके साथ ही धार्मिक स्थलों हेतु सरकार के द्वारा लागू गाइड लाइन का गंभीरता से पालन करें। इसका व्यापक प्रचार मीडि‍या द्वारा किया जा रहा है।

इसका प्रदर्शन उस परिसर में भी करना अनिवार्य होगा। यदि गाइड लाइन का उल्लंघन किया गया तो कठोर कार्रवाई अमल में लायी जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में यह कार्य एडीएम प्रशासन, एसपी ग्रामीण, एसडीएम, सीओ और एसएचओ के द्वारा समन्वय करके किया जाएगा। चेक लिस्ट पूरे जनपद के लिए एक ही रहेगी।