वाराणसी : शहर में ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू करने के लिए जिला प्रशासन ने की बैठक

वाराणसी : जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने गुरुवार को कैम्प कार्यालय सभागार में एनएचएआई के रुके हुए सभी कार्यों को चालू करने, हाइवे ट्रांसपोर्ट, सिटी ट्रांसपोर्ट तथा वेंडिंग ज़ोन आदि से सम्बंधित बैठक की। इस दौरान जिलें की हाइवे ट्रांसपोर्ट से लेकर सिटी ट्रांसपोर्ट तथा शहर की ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू एवं सुदृढ़ करने पर गहन मंथन किया गया।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने टेंगरा मोड़ के पास निर्माणाधीन टोल प्लाज़ा का कार्य तेजी से पूर्ण कराये जाने पर विशेष जोर देते हुए टोल प्लाज़ा के निर्माण में लेबर की कमी को दूर करने के लिए ठेकेदार को आसपास के गांवों में भेजकर मजदूरों की व्यवस्था कराये जाने का भी निर्देश सम्बंधित अधिकारी को दिया। उन्होंने स्वयं मौके पर टेंगरा मोड़ हाईवे के नीचे सड़क साफ सुथरा न होने तथा हाईवे के ढलान के पत्थर बिखरे होने को देखकर तथा मोड़ के पास सड़क पर एक बड़ा गड्ढा बनाया हुआ है जो खुला पड़ा है सबकुछ व्यवस्थित कराने का निर्देश एनएचएआई के मैनेजर को दिया।

टेंगरा मोड़ के पास ही सड़क के दोनों ओर नाला निर्माण के कार्य में तेजी लाने तथा बरसात के पूर्व कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया। टेगरा मोड़ से ओवर लोडेड ट्रकों को मोहनसराय से वाराणसी शहर में प्रवेश करने से रोकने की कार्य-योजना एक सप्ताह में तैयार करने का निर्देश एसपी ट्रैफिक को दिया। उन्होंने कहा कि जब तक कार्ययोजना तैयार हो तब तक डायवर्जन का कार्य चालू कर दिया जाय। जिससे शहर की ट्रैफिक सुचारू हो तथा शहर की पाईप लाईन और सीवर लाइन क्षतिग्रस्त न होने पाए।

वाराणसी शहर के बीच से होकर जाने वाली ट्रकों को शहर में आने से रोका जाय तथा उन्हें डायवर्ट कर कछवा से ही कपसेठी मार्ग की ओर मोड़ दिया जाय। शुक्रवार से कपसेठी पुल निर्माण का कार्य चालू करा कर निर्माण कार्य की फोटो उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने रोहनिया क्षेत्र में जीटी रोड के किनारे ट्रकों के खड़ा करने पर पाबंदी लगाते हुए एसपी ट्रेफिक को निर्देश दिया कि इसका आदेश जारी कराएं। वैश्विक महामारी के दृष्टिगत रखते हुए फिजिकल डिस्टेंसिंग को अपनाते हुए शहर में ई-रिक्शा तथा ऑटो रिक्शा के व्यवस्थित संचालन सुनिश्चित कराए जाने के लिए एआरटीओ को कार्य योजना बनाने का निर्देश दिया।

नगर निगम के पांचो जोन भेलूपुर जोन, दशाश्वमेध जोंन, वरुणा पार जोंन, कोतवाली जोन तथा आदमपुर जोंन के अनुसार आटो रिक्शा पर अलग-अलग कलर के स्टीकर लगाकर निर्धारण किया जाय। हर आटो रिक्शा हर क्षेत्र में नहीं चलेगा। उन्होंने एक एप बनवाने का एआरटीओ को निर्देश दिया, जिसके माध्यम से आटो चालक अपने जोन आदि का चयन तथा अन्य विवरण के साथ आवेदन कर सकेंगे। ई-रिक्शा का संचालन शहर की सड़को पर न होकर गलियों में ही अनुमन्य होगा, वे मेन सड़कों पर नहीं आयेंगे। शहर में थानेवार चिन्हित किए गए वेंडिंग जोन को परमिशन जारी करने का निर्देश दिया गया।


इस दौरान बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी, नगर आयुक्त गौरांग राठी, एडीएम सिटी विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी दिनेश सिंह तथा एसपी ट्रैफिक सहित सभी संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *