December 2, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : मां अन्नपूर्णा की एक झलक पाने लिए देर रात से ही भक्तों की लगी कतार, जहां स्वयं भोलेनाथ ने अन्न की खातिर माँगी थी भिक्षा

वाराणसी। धर्म व आध्यात्मिक की नगरी काशी में पार्वती रूप में पूजी जाती है। माँ अन्नपुर्णा जहा की साल के चार दिन स्वर्णमयी प्रितमा का दर्शन मिलता है। सम्पूर्ण विश्व से भक्त पहुचते है, एक झलक से ही कष्ट दूर हो जाते है।

ऐसा माना जाता है कि अन्न की देवी कहि जाने वाली माँ अन्नपुर्णा से बाबा ने भी हाथ फैलाई था और रही बात काशी नगरी की तो यह कोई बिन खाते नही सोता माता के आशीर्वाद से इस वर्ष महामारी कोविंड के चलते भक्तों का आना कम हुआ है।

माता के दर्शन को लेकर भक्त देर रात से ही कतारबद्ध हो गये थे एक लाइन गोदौलिया तो दूसरी तरफ थाना चौक को छू रही थी जैसे जैसे समय पास आ रहा था पूरा परिक्षेत्र माँ के जयकारे से गुलजार हो रहा था सुबह 5.55 पर आम भक्तों के लिए पट खोल दिया गया था।

मन्दिर अर्चक सत्यनारायण मिश्र के आचरत्व में षोड़षोपचार पूजन हुआ फिर मन्दिर महंत रामेश्वरपुरी ने भव्य माँ की आरती उतारी साथ मे 21 दबरु दल के ध्वनि से माँ दरबार जयकारे से गुज उठा आरती के बाद से ही भक्तों ने महंत जी के हाथों खजाना पाकर खुश दिखे।

वही 2 बजे तक लगभग 18 हजार लोग दर्शन कर चुके थे कोविंड-19 को देखते हुये पूरा नियमो का पालन कर के ही भक्त माता मिल रहा था। मन्दिर में एक उपचार हेतु डाक्टर की टीम भी बैठाई गई थी जो कि आने वाले भक्तों को किसी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल उवचार हो रहा था।

इसके साथ ही कैमरों के माध्यम से आये हुये भक्तों को लगातार माइक द्वारा एक दूरी बनाए रखने को कहा जा रहा था।