November 26, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : मोक्षदायिनी मां गंगा की आरती कर वीर शहीदों के लिए मोक्ष की कामना, तुलसी व गिलोय के पौधे देकर कोरोना योद्धाओं का किया गया सम्मान

वाराणसी :  कोरोना महामारी के दौरान गंगा घाटों पर स्वच्छता बनाए रखने वाले योद्धाओं का सम्मान नमामि गंगे द्वारा शनिवार को राजघाट पर किया गया। घाटों की स्वच्छता हेतु नियुक्त स्वच्छता कर्मियों को पर्यावरण संरक्षण की कामना से तुलसी और गिलोय का पौधा भेंट किया गया। राजघाट पर उपस्थित नागरिकों में पर्यावरण संरक्षण की अलख जगाई गई। 

देश की संप्रभुता और अखंडता के लिए गलवन घाटी में शहीद हुए सैनिकों को गंगा आरती के द्वारा श्रद्धांजलि दी गई। राष्ट्रध्वज तिरंगा लेकर नमामि गंगे के सदस्यों ने मोक्षदायिनी गंगा से देश के लिए अमर हुए शहीदों के मोक्ष की कामना की। भारतीय सैनिकों की शक्ति में वृद्धि के लिए मां गंगा से प्रार्थना की गई। भारत माता की जयकार के बीच चीन निर्मित उत्पादों का उपयोग न करने का संकल्प लिया गया।

इस संदर्भ में नमामि गंगे के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि मानसून असीमित जल राशि के साथ प्रकृति को नवजीवन देने आ रहा है। मानसून के दौरान पौधारोपण प्रकृति के लिए लाभदायक सिद्ध होता है। गिलोय और तुलसी में रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है। यह पौधे घर पर गमले में भी सुगमता से लगाए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि एकजुट होकर चीन के गुरुर को चूर-चूर करने का समय आ गया । चीन को यह पता चलना ही चाहिए कि वह दादागिरी के बल पर भारत से अपने रिश्ते कायम नहीं कर सकता।  आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत चीनी उत्पादों का आयात सिमित किया जाना अनिवार्य ही नहीं अपरिहार्य हो गया है।

इस आयोजन में प्रमुख रूप से नमामि गंगे गंगा विचार मंच काशी प्रांत के संयोजक राजेश शुक्ला, महानगर संयोजक शिवदत्त द्विवेदी, महानगर सहसंयोजक शिवम अग्रहरी, राम प्रकाश जायसवाल, सत्यम जायसवाल, अविनाश गुप्ता एवं स्वच्छता कर्मी मौजूद रहे।