January 27, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : लॉकडाउन के दौरान भी लगातार चलता रहा BHU अस्पताल का लेबर रूम, 5 महीने में हुई कुल 589 डिलीवरी

लॉकडाउन के दौरान भी लगातार चलता रहा सर सुन्दरलाल अस्पताल का लेबर रूम, पांच महीने में हुई कुल 589 डिलीवरी सफलतापूर्वक हुई।

वाराणसी : वैश्विक महामारी के दौरान काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के सर सुन्दरलाल चिकित्सालय स्थित प्रसूति व महिला रोग विभाग लॉकडाउन के दौरान भी पूरी तत्परता के साथ काम करता रहा और 22 मार्च से 26 अगस्त, 2020 के बीच विभाग में 589 डिलीवरी सफलतापूर्वक हुईं।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के मद्देनज़र लागू लॉकडाउन के दौरान विभाग का प्रसूति कक्ष लगातार चलता रहा। इन 589 मामलों में से 48 कोविड पॉज़ीटिव केस थे, जबकि 541 नॉन कोविड मामले। इन सभी को विभाग के चिकित्सकों व मेडिकल स्टाफ़ ने पूरी मुस्तैदी के साथ चिकित्सा व देखभाल उपलब्ध कराई। 48 कोविड पॉज़ीटिव मामलों में से 36 का सीज़ेरियन सेक्शन किया गया, 7 की सामान्य डिलीवरी हुई, एक की लैपरोटॉमी की गई, जबकि 4 मामले प्रीटर्म लेबर के थे, जिन्हें उपचार के बाद नेगेटिव होने पर और फॉलो अप के लिए आने की हिदायत के साथ छुट्टी दे दी गई।

नॉन कोविड 541 मामलों में से 309 का सीज़ेरियन सेक्शन किया गया, 208 की सामान्य डिलीवरी हुई, जबकि 24 की लैपरोटॉमी हुई। इस दौरान सभी मरीज़ों का बेहतर ढंग से उपचार किया गया और किसी भी मरीज़ की कोविड स्थिति की वजह से इलाज में कोई देरी नहीं हुई।

विभाग में एक भी कोविड मरीज़ की मृत्यु नहीं हुई और सभी पूरी तरह से स्वस्थ होकर घर लौटे। इस पूरी अवधि में कोई चिकित्सक छुट्टी पर नहीं गए और जब भी आवश्यकता पड़ी मरीज़ो के उपचार हेतु उपलब्ध रहे। विभाग के जो चिकित्सक 60 वर्ष से अधिक उम्र के हैं वे भी निरन्तर मरीजों के उपचार में लगे रहे। विभाग के 2 कन्सलटेंट एवं 9 रेज़ीडेंट खुद भी कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे, जो नियमानुसार क्वारंटाइन और कोविड नेगेटिव होने के बाद वापस ड्यूटी पर लौटे। कोविड-19 की चुनौती के बावजूद प्रसूति एवं महिला रोग विभाग पूरी सक्रियता एवं तत्परता के साथ मरीज़ों की सेवा में जुटा रहा।

You may have missed