March 8, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : ABVP बीएचयू द्वारा “बजट पर परिचर्चा” कार्यक्रम का हुआ आयोजन

वाराणसी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद,काशी हिन्दू विश्वविद्यालय विभाग के द्वारा ‘बजट पर परिचर्चा’ कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय परिसर स्थित डेयरी अनुसंधान विभाग के सभागार में किया गया। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों एवं  विभागों के आचार्यो एवं शोध छात्रों ने बजट-2021 की खूबियों एवं ज़रूरतों का विश्लेषण किया। चर्चा के दौरान आम बजट 2021 पर विस्तृत परिचर्चा हुई एवं विद्यार्थियों ने विषय विशेषज्ञों से प्रश्न पूछ अपनी शंकाए भी दूर की।
 
इस दौरान विषय विशेषज्ञ के तौर पर मौजूद डेयरी अनुसंधान विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर दिनेश चंद्र राय ने कहा कि आम बजट 2021 में नए आत्मनिर्भर भारत की नींव रखने का प्रयास किया गया है।कोरोना के कारण देश को जो आर्थिक क्षति हुई है उससे उबरने में यह बजट कारगर साबित होगा। उन्होंने यह भी कहा कि डेयरी के क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार को देसी गायों के संवर्धन एवं दुग्ध उत्पादन पर जोर देना चाहिए।

कृषि क्षेत्र के विषय विशेषज्ञ के तौर पर मौजूद कृषि विज्ञान संस्थान के कृषि अर्थशास्त्र के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर राकेश सिंह ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में आज भारत किसानों को सबसे ज़्यादा सब्सिडी देने वाला देश बन गया है।आम बजट 2021में कृषि क्षेत्र के लिए अलग से धन की व्यवस्था की गई है इसी के  साथ कृषि क्षेत्र के ढांचागत विकास के लिए सरकार ने अलग से प्रावधान किए है जो सराहनीय है।
 
अर्थशास्त्र की विषय विशेषज्ञ के रूप में मौजूद डॉ.ऊर्जस्विता सिंह ने कहा कि आम बजट 2021 छोटे उद्योगों,स्टार्टअप एवं देश की आर्थिक स्थिति को फायदा पहुंचाने वाला है।इसमें देश के आर्थिक विकास को गति देने के लिए ढांचागत विकास को ज़ोर दिया गया है जिसमें ईस्टर्न और वेस्टर्न फ्रेट कॉरीडोर, भारत माला प्रोजेक्ट आदि काफी सराहनीय कदम हैं।
 
विज्ञान के विषय विशेषज्ञ के तौर पर मौजूद भौतिक विज्ञान विभाग के प्रो० भारतेंदु सिंह ने बजट में नई  शिक्षा नीति एवं राष्ट्रीय अनुसंधान परिषद के लिए धन आवंटित करने की सराहना की।उन्होंने उच्च शिक्षा के क्षेत्र में संवर्धन एवं नवाचार के लिए प्रोत्साहित करने वाली योजनाओं पर प्रकाश डाला एवं नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में इस बजट की अहम भूमिका बताई।
 
पर्यटन के क्षेत्र के विषय विशेषज्ञ के तौर पर मौजूद पर्यटन विभाग के डॉ प्रवेश राणा ने कहा कि इस बजट से पर्यटन को बढ़ावा मिलने की संभावना है क्योंकि कोरोना काल मे अधिकतर पर्यटन पर निर्भर प्रदेश अपनी अर्थव्यवस्था से जूझ रहे हैं।

उन्होंने सरकार द्वारा प्रस्तावित विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सड़क का निर्माण पर्यटन के क्षेत्र को प्रोत्साहित करेगा।उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना काल मे बड़ी आर्थिक क्षति झेल चुके पर्यटन के क्षेत्र को पुनः स्थापित करने के लिए सरकार को और प्रावधान करने की ज़रूरत है।
 
परिचर्चा के दौरान छात्रो ने विशेषज्ञों के समक्ष अपने प्रश्न भी रखे।कार्यक्रम के पश्चात धन्यवाद ज्ञापन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभाग संयोजक अधोक्षज पांडेय ने किया।

इस दौरान राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य राहुल राणा,सह विभाग संयोजक अभय प्रताप सिंह, सौरभ राय, अमर्त्य उपाध्याय, सुयज्ञ रे, आशुतोष सिंह, सर्वेश सिंह, विकास तिवारी, दीपक कुमार, प्रिया सैनी, आस्था पटेल, शिवांगी एवं बड़ी संख्या में शोध छात्र व अन्य विद्यार्थी मौजूद रहे।