December 3, 2020

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

रायबरेली : लालगंज में विगत दिनों पुलिस कस्टडी में दलित युवक की मौत पर मुलाकात के लिए जा रहे बसपाईयों को बछरावां पुलिस ने किया गिरफ्तार

रिपोर्ट : सुफील खान

रायबरेली : जनपद के लालगंज कोतवाली में विगत दिनों पुलिस कस्टडी में संदिग्ध परिस्थितियों में दलित युवक की मौत पर सियासी पारा चढ़ गया है। बसपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के निर्देश पर पूर्व मंत्री बसपा नेता गया चरण दिनकर की अध्यक्षता में गठित एससीएसटी प्रतिनिधिमंडल बुधवार को मृतक दलित युवक के घर लालगंज जा रहा था। तभी इसकी खबर प्रशासन को लग गई।

दोपहर 12:00 बजे लखनऊ प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित दखिना टोल प्लाजा पर बछरावां व हरचंदपुर की पुलिस ने कड़ा पहरा लगा दिया और लखनऊ से आ रहे पूर्व मंत्री बसपा नेता गया चरण दिनकर, एमएलसी व लखनऊ मंडल के प्रभारी भीमराव अंबेडकर, बसपा नेत्री लाजवंती कुरील, बाल कुमार गौतम ,रत्नेश चौधरी, शिवांशु राव सहित आधा दर्जन से अधिक गाड़ियों मे सवार बसपा नेताओं को पुलिस द्वारा रोक लिया।

उपजिलाअधिकारी महाराजगंज विनय मिश्रा ने बसपा नेताओं से वापस लौटने की अपील की तो नेता जाने की जिद पर अड़ गए जिस पर सब सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं सहित लगभग 100 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर बछरावां कस्बे के शिवगढ़ रोड स्थित सिंचाई विभाग के डाक बंगले में पहुंचा दिया। जहां घंटो अधिकारी कर्मचारी बसपा नेताओं को समझाते बुझाते रहें।

डाक बंगले में बसपा नेता गया चरण दिनकर ने कहा कि वह लोग पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए जा रहे थे उन्हें जबरन रोक लिया गया है पीड़ित परिवार को न्याय मिलना ही चाहिए वर्तमान की केंद्र और प्रदेश की बर्बर सरकार मे दलितों पर हो रहे अत्याचार तत्काल रुकने चाहिए।

विधान परिषद सदस्य भीमराव अंबेडकर ने कहा कि वर्तमान सरकार में दलितों पर जुल्मों सितम बढ़ गया है। बसपा नेत्री लाजवंती कुरील ने भाजपा सरकार पर लोकतंत्र का गला घोटने का आरोप लगाया। दोपहर लगभग 2:30 बजे उप जिलाधिकारी विनय मिश्रा ने सभी नेताओं को समझा-बुझाकर वापस लखनऊ भेज दिया।