वाराणसी : एक ही माह में दुसरी बार हरी हुए गंगा, जिलाधिकारी ने लिया संज्ञान…

वाराणसी। लगभग एक महीनों से गंगा में हरे शैवाल देखें गये साथ ही गंगा का पानी हरा होने लगा और महीने भर में दूसरे बार देखने को मिला। जिसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आ गयी और जिले के मुखिया कौशलराज शर्मा ने मामले को गम्भीरता में लेते हुए । पांच सदस्यीय टीम गठित कर जल्द से जल्द जांच करने का निर्देश देते हुए रिपोर्ट मांगी है‌।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने इसकी जांच के लिए अपर नगर मजिस्ट्रेट (द्वितीय), क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, सहायक पुलिस आयुक्त (दशाश्वमेघ), अधिशासी अभियन्ता बन्धी प्रखण्ड एवं महाप्रबन्धक गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई की पांच सदस्यी टीम गठित की है।

इसके साथ ही जल पुलिस की नाव के माध्यम शैवाल और पानी हरे होने के कारणों को गंगा नदी में भ्रमण करते हुए फोटोग्राफ्स तथा वीडियोग्राफ्स अपनी संयुक्त तथ्यात्मक जॉच आख्या प्रस्तुत करेंगे। साथ ही इस समस्या के निवारण के विकल्प भी 10 जून की शाम तक हर हालत में उपलब्ध कराएंगे।

बीएचयू प्रोफेसर विजय एन मिश्रा और शैवाल परीक्षण टीम के सदस्य ने मीडिया से बात चीत में बताया कि 4 दिन पहले गंगा के ऊपर हरी परत बन गई थी. यह नदी के प्रवाह में कमी के कारण हो सकता है, जिसके कारण संभवतः मौलिक प्रदूषण में वृद्धि हुई और शैवाल प्रकृति में परिवर्तन हुआ। शैवाल निर्धारित करने के लिए जैविक परीक्षण लंबित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *