March 5, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : प्रधानमंत्री की पहल से बीएचयू के दिव्यांग छात्र परितोष वर्मा को डाक्टर बनने में आ रही बाधा खत्म…

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से काशी हिंदू विश्वविद्यालय(बीएचयू) के दिव्यांग छात्र परितोष वर्मा को डाक्टर बनने में बाधा खत्म हो गई है।

परितोष वर्मा जो कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में बी.एस.सी. के दिव्यांग छात्र है जो पिछले माह 19 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी आगमन पर डी0एल0डब्लू0 हैलीपैड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिव्यांग जनों के साथ मिले थे।

जिसमे दिव्यांग छात्र का कहना था एमबीबीएस दो बार किया। मगर एम्स द्वारा छात्र का दिव्यांग प्रमाण पत्र 80 प्रतिशत से उपर बनाकर डिसक्वालीफाई कर दिया गया और कहा गया कि तुम कभी डॉक्टर नही बन सकते। इससे छात्र निराश होकर बीएचयू में बीएससी करना शुरू कर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पर छात्र रोने लगे और पीएम मोदी ने छात्र को गले लगा लिया और कहा कि तुम जरूर डॉक्टर बनोगी अपनी समस्या हमे लिखित दे दो।

पीएम के जाने के बाद दूसरे ही दिन एम्स से आया फोन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जाने के बाद दूसरे ही दिन एम्स से फोन आया और छात्र को एम्स बुलाया गया और जांच के उपरांत छात्र को प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया। जिससे अब दिव्यांग छात्र डॉक्टर बन सकता है।

एम्स से प्राप्त प्रमाण पत्र आज छात्र को बीएचयू में छात्र कल्याण संकाय में छात्र कल्याण संकाय अध्यक्ष प्रो0 एम0के0 सिंह की उपस्थिति व अध्यक्षता में केंद्रीय सलाहकार बोर्ड दिव्यांगजन सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता मंत्रालय के सदस्य डॉ0 उत्तम ओझा के द्वारा यह प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

इस अवसर पर दिव्यांग छात्र परितोष वर्मा ने कहा कि मैं अभिभूत हु आज तक ऐसा कभी नही हुआ था। इतनी जल्दी कार्यवाही हुई है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की संवेदनशीलता है कि इन्होंने स्वयं रूचि लेकर कार्य को पूरा कराया। अब मैं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की कृपा से डॉक्टर बन सकता हूं। इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है और अब मैं डॉक्टर बन सकता हूं। इसलिए मैं आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी एवं भारत सरकार का मैं बहुत आभारी हूं।

इस अवसर पर छात्र कल्याण संकाय अध्यक्ष प्रो0 एम0के0 सिंह ने कहा कि यह प्रधानमंत्री जी की संवेदनशीलता है कि जिसके हम कायल है परितोष के कारण विश्वविद्यालय का मान बढ़ा है। इस पर डॉ0 उत्तम ओझा ने सभी को धन्यवाद किया।

इस कार्यक्रम में जिला दिव्यांग समन्वय के डॉ सुनील मिश्रा, डॉ0 संजय चौरसिया, डॉ0 संध्या दूबे नमिता सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।

You may have missed