May 9, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

वाराणसी : थाने में लगी चौपाल, बेटियों ने पुलिस अधिकारियों से किया सवाल, क्यो करती है…

वाराणसी : मिर्जामुराद थाना में गुरुवार को किशोरियों की चौपाल लगी। जिसमे बेटियों ने अपने अधिकारों को जाना। इस दौरान थाने का भ्रमण करके पुलिस के कार्यप्रणाली को जाना। इसी क्रम में बेटियों ने पुलिस अधिकारियों से कई सवाल भी किये।
वाराणसी के मिर्जामुराद आदर्श ग्राम नागेपुर में आशा और लोक समिति के तत्वाधान में चल रहे किशोरी समर कैंप की लड़कियों को थाना मिर्जामुराद भ्रमण करवाया गया। जिसमें करीब साठ से अधिक की संख्या में किशोरियों ने थाने के अंतर्गत होने वाली प्रशासनिक कार्यवाइयों के बारे में जाना।

लड़कियों व महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाए गए कानून की दी गयी जानकारी

इस दौरान थाना मिर्जामुराद में लड़कियों संग थाना चौपाल लगाई गयी। थाना चौपाल में उपस्थित थानाध्यक्ष वैभव सिंह मिर्जामुराद ने विस्तार से लड़कियों को उनके अधिकार और विभिन्न कानूनों की जानकारी दिया। लड़कियों और महिलाओं को आपातकाल के दौरान मदद के लिये शुरू किये गए हेल्पलाइन लाइन नम्बर 100, 181, 1090 का इस्तेमाल करने के बारे में बताया और लड़कियों के सुरक्षा के लिए बनाये गए पॉस्को कानून की भी जानकारी दिया।

पुलिस हमेशा गाली देकर क्यो बात करती है..?

इसके साथ ही, किशोरियों ने थानाध्यक्ष के साथ सक्रिय चर्चा में हिस्सा लेते हुए, कई सवाल भी पूछे। जिसमें सुनीता ने जब थानाध्यक्ष से ये सवाल किया कि ‘पुलिस हमेशा गाली देकर क्यों बात करती है? जब भी हमारे गाँव में किसी घटना के बाद आती है तो सीधे माँ-बहन की गाली से अपनी बात शुरू करती है। आपके अनुसार ये कितना सही है? वो घटना जिसमें उनकी माँ-बहन की कोई भूमिका ही नहीं हो वहां ऐसी गालियों का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।’

इसके बाद एक-एक कर किशोरियों ने अपने आँखों देखे अनुभवों के आधार पर पुलिस से जुड़े कई व्यवहारिक सवाल करने शुरू कर दिए। थानाध्यक्ष ने किशोरियों की बेबाकी और तार्किक सवालों की सराहना करते हुए बेहद संवेदनशीलता से किशोरियों के सवालों का जवाब दिया। कई लड़कियों ने अपने गाँव में हो रहे जुआ और शराब की दुकान बंद करने की माँग किया।

लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने संस्था की तरफ थानाध्यक्ष वैभव सिंह को स्मृति चिन्ह और अंगवस्त्र देकर स्वागत किया उन्होंने बताया कि समर कैंप के अंतर्गत 10 मई से लड़कियों को शिक्षा, कला व अन्य बच्चों के विकास से संबंधित विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। किशोरियों को पुलिस की प्रशासनिक कार्यप्रणाली को प्रत्यक्ष रूप से जान सके और अपने सवालों के जवाब जान सके।

एस आई राजेश ने बताया कि आज जब हम पुलिस को लेकर एक नकारात्मक छवि अपने मन में रखते है, जिसके कई कारण हो सकते है और इसके चलते युवाओं खासकर ग्रामीण किशोरियों के मन में पुलिस को लेकर डर बना रहता है। नतीजतन कई बार वे संगीन अपराधों के बावजूद पुलिस तक मदद के लिए नहीं पहुँच पाती है। ऐसे में, पुलिस प्रशासन का इस तरह किशोरियों के साथ थाना-भ्रमण और परिचर्चा का कार्यक्रम आयोजन करने में सहयोग करना, समाज के आगामी सकारात्मक बदलाव का शुभसंकेत है।

कार्यक्रम का स्वागत ग्राम प्रधान संघ अध्यक्ष तेजनाथ पटेल, अध्यक्षता नागेपुर के पूर्व प्रधान मुकेश पटेल, एवं धन्यवाद ज्ञापन स्वाती सिंह और संचालन लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने किया। कार्यक्रम के अंत मे जिन किशोरियों ने बेबाकी से अपने सवाल पूछे उन्हें थानाध्यक्ष वैभव सिंह की तरफ से पुरस्कृत भी किया गया। सम्मानित होने वाली किशोरियों में वर्षा, सुमन, मीना, अंजली, प्रीति और अन्य किशोरियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में मौजूद रहे लोग

इस पर कार्यक्रम में थानाध्यक्ष वैभव सिंह, एसआई राजेश कुमार मिश्रा, इंदलप्रसाद तिवारी, राजेश यादव, विनय सिंह, हैदर अली, डननू सिंह, सुरेंद्र प्रताप सिंह, श्यामसुंदर, पंचमुखी, सरिता, रामकिंकर कुमार, रामबचन, निहारिका, सोनी बेबी राजकुमारी मैनमबानो शमा बानो अनीता और प्रेमा मौजूद रहे।

देखे वीडियो