May 7, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

मेरठ : गरीबों के साथ गद्दारी करने वाली कांग्रेस को देश का गरीब अब पूरी तरह हटाकर ही दम लेगा : पीएम मोदी

लोकसभा चुनाव 2019 के पहली चुनावी रैली में गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरठ में गरजे। इस रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी अभियान की शुरुआत की। रैली में मेरठ और मुजफ्फरनगर जिले की चार लोकसभा क्षेत्रों के समर्थक शामिल हुए। इस दौरान पीएम ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा दिल्ली ही नहीं दुनिया का मीडिया, पूरब, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण जिसने भी 2019 का जनादेश देखना हो वो इस जन सैलाब को देख सकता है। और भारत के 130 करोड़ लोग मन बना चुकें हैं कि 2019 में फिर एक बार मोदी सरकार बनने जा रही है।

इस दौरान पीएम मोदी द्वारा की गई मुख्य बाते :

2019 के चुनाव अभियान की शुरुआत मेरठ से शुरु करने की एक खास वजह है। 1857 में वही सपना, वही आकांक्षा दिल में लिए इसी मेरठ से स्वतंत्रता के आंदोलन का पहला बिगुला फूंका गया था।

हम सबके आदरणीय चौधरी चरण सिंह जी को मैं नमन करता हूं। चौधरी साहब देश के उन महान सपूतों में से हैं, जिन्होंने देश कि राजनीति को खेत खलिहानों और किसानों की और ध्यान देने के लिए बाध्य किया।

5 वर्ष जब मैंने आप सभी से आशीर्वाद मांगा था तो आपने भरपूर प्यार दिया था, मैंने कहा था आपके प्यार को मैं ब्याज सहित लौटाऊंगा और जो काम किया है, उसका हिसाब दूंगा और साथ में दूसरों का हिसाब भी लूंगा।

अपना हिसाब दूंगा ही और साथ-साथ दूसरों का हिसाब भी लूंगा। ये दोनों काम साथ-साथ चलेंगे। तभी तो होगा हिसाब बराबर। चौकीदार हूं भई, और चौकीदार कोई नाइंसाफी नहीं करता। हिसाब होगा, सबका होगा, बारी बारी से होगा।

आज एक तरफ नए भारत के संस्कार हैं, तो दूसरी तरफ वंशवाद और भ्रष्टाचार का विस्तार है। एक तरफ दमदार चौकीदार है, तो दूसरी तरफ दागदारों की भरमार है।

हमारा विजन एक ऐसे नए भारत का है, जो अपने गौरवशाली अतीत के अनुरूप ही वैभवशाली होगा। एक ऐसा नया भारत जिसकी नई पहचान होगी, जहां सुरक्षा, समृद्धि और सम्मान के संस्कार होंगे।

इस देश ने सिर्फ नारे लगाने वाली बहुत सरकारें देखीं हैं, लेकिन पहली बार ऐसी निर्णायक सरकार भी देख रहा है, जो अपने संकल्प को सिद्ध करना जानती है।

जमीन हो, आसमान हो, या फिर अंतरिक्ष सर्जिकल स्ट्राइक का साहस आपके इसी चौकीदार की सरकार ने करके दिखाया है।

जब मैं बैंक खाते खुलवाता था तो कुछ बुद्धिमान लोग कहते थे कि देश में बैंक ही नहीं है खाते से क्या होगा।जो 70 साल में गरीब का खाता नहीं खुलवा सके वो आज कहते हैं कि खाते में पैसे डालेंगे।

सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला भी हमारी सरकार ने किया है। जब आपने ये खबर सुनी होगी तो आपको भी गर्व हुआ होगा।

जब दिल्ली में इन महामिलावटी लोगों की सरकार थी, तो आए दिन देश के अलग-अलग कोने में बम धमाके होते थे। ये आतंकियों की भी जात और पहचान देखते थे और उसी आधार पर पहचान करते थे कि इसे बचाना है या सजा देनी है।

मुझे पता चला है कि यहां मेरठ में विरोधी दलों के जो उम्मीदवार हैं, उन्होंने तो आतंकवादियों के लिए करोड़ों रुपये के ईनाम तक का ऐलान कर दिया था। अब आप सोचिए, महामिलावट के लिए ये लोग किस हद तक जा सकते हैं।

आज स्थिति ये है कि कुछ दिन पहले जो चौकीदार को चुनौती देते फिरते थे वो आज रोते फिरते हैं। मोदी ने पाकिस्तान को घर में घुसकर क्यों मारा, आतंकियों के अड्डे नष्ट क्यों किए, इन बातों पर रो रहे हैं।

महामिलावटियों के राज में बेटियों को इंसाफ मिलता था क्या? इनकी सरकार में गुंडे और बदमाश बेलगाम थे कि नहीं ? क्या इनकी सरकार में देश सुरक्षित रह सकता है?जब से यूपी में योगी जी की सरकार आई है तब से गुंडे बदमाशों में भय बना हुआ है।

मैं देशवासियों से पूछना चाहता हूं कि हमें सबूत चाहिए या सपूत। मेरे देश के सपूत यही मेरे देश के सबसे बड़े सबूत हैं। जो सबूत मांगते हैं, वो सपूत को ललकारते हैं।

सारे महामिलावटी लोग, कौन पाकिस्तान में ज्यादा पॉपुलर होगा इस प्रतिस्पर्धा में लगे हैं। वहां की मीडिया में छाए हुए हैं। आपको तय करना है कि आपको हिंदुस्तान के हीरो चाहिए या पाकिस्तान के?।

मैं देश के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार रहने वाला व्यक्ति हूं। कोई भी राजनीतिक दबाव, कोई भी अंतरराष्ट्रीय दबाव, आपके इस चौकीदार को डिगा नहीं पाएगा और न कोई डरा पाएगा।

मैं किसी तरह का बोझ नहीं रखता, क्योंकि मेरे पास अपना कुछ नहीं, जो कुछ है वो देश का दिया है। चिंता तो उसको होती है जो खोने से डरता है, जिन्हें वंश और विरासत का सोचना है।

आज जब देश अपनी सामर्थ्य बढ़ा रहा रहा है, अपनी ताकत बढ़ा रहा और अंतरिक्ष में चौकीदारी कर रहा है तो कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा है।

ये लोग भारत को हमेशा कमजोर बनाकर रखना चाहते हैं। मैं इनसे जानना चाहता हूं कि किसके इशारे पर, किसको फायदा पहुंचाने के लिए आप लोग ऐसा ढुलमुल रवैया अपनाते रहे।

हमारे वैज्ञानिक पहले से अंतरिक्ष में सैटेलाइट को मार गिराने के परीक्षण की मांग कर रहे थे और पुरानी सरकार ने ये फैसला भी टाल दिया था। देश की सुरक्षा के लिए ये फैसला बहुत पहले ले लिया जाना चाहिए था। लेकिन ये फैसला भी टाला जाता रहा।

उत्तर प्रदेश में जिस पार्टी के नेताओं को जेल भेजने के लिए, बहन जी ने जीवन के 2 दशक लगा दिए उसी से उन्होंने हाथ मिला लिया है। जिस दल के नेता बहन जी को गेस्ट हाउस में ही खत्म कर देना चाहते थे, वो अब उनके साथी बन गए हैं।

अभी पिछले चुनाव में यूपी ने 2 लड़कों का खेल देखा और 2 लड़कों से बुआ-बबुआ तक पहुंचने में जो तेजी दिखाई गई हैं। वो बहुत गजब हैं।

इन लोगों की राजनीति तभी चलती है,जब देश कमजोर रहे, जब लोगों को ये बांटते रहे, समाज में खाई हो, ये सिर्फ अपना स्वार्थ देखते हैं,सबका साथ सबका विकास इन्हें मंजूर नहीं है।

2014 में और 2017 में यहां के लोग इन्हें दिखा चुके हैं कि उत्तर प्रदेश को जातियों में बांटने की कोशिश अब सफल नहीं होगी। सब जान गए हैं कि जब देश बचेगा, तभी तो समाज भी बचेगा।इस बार भी यूपी की जनता का फैसला 2014 और 2017 से भी ज्यादा शानदार आने वाला है।

सिर्फ बोर्ड बदल लेने से दुकान नहीं बदलती।सपा-बसपा के शासन की पहचान, यूपी के लोगों को दिया धोखा, उत्तर प्रदेश के लोग भूले नहीं हैं। सपा के शासनकाल में हुए दंगों का दंश आप सभी अभी तक झेल रहे हैं।

मत भूलिए ये वही लोग हैं जो तीन तलाक कानून का विरोध करते हैं। ये वही लोग हैं जो कहते हैं कि तीन तलाक की वजह से महिलाएं बच जाती हैं, ये कैसी मानसिकता है?।

सपा के शासन में गन्ना किसानों को अपना ही पैसा पाने के लिए अपमानित होना पड़ता था। सपा सरकार ने गन्ना किसानों का 35 हजार करोड़ से ज्यादा का बकाया योगी जी के लिए छोड़ दिया था, जिसका अब भुगतान हो चुका है।

जब मैं 8-10 साल की उम्र का था, तब सुनाता था कि सरकार गरीबी हटाने के बारे में बात कर रही है। जब 20-22 साल का हुआ तो इंदिरा गांधी भी कहती थी कि गरीबी हटाएंगे। इसके बाद भी चार-चार पीढ़ियां यही कहती रहीं। वो तो आगे बढ़ते रहे लेकिन गरीब, गरीब ही रह गया।

गरीबों के साथ गद्दारी करने वाली कांग्रेस को देश का गरीब अब पूरी तरह हटाकर ही दम लेगा।