जौनपुर : धूमधाम से मनाया गया 105वां स्थापना दिवस, 105 वर्ष की हुई उत्तर भारतीयों की पहली संस्था

जौनपुर : किसी भी संस्था को स्थापना करना और उसको संचालन करना पीढ़ी दर पीढ़ी 100 से आगे ले जाना आसान नही होता है। मगर कुछ ऐसे सन्ता होते है जो 100 साल से भी कम में नही चल पाते है। मगर एक ऐसी संस्था है जो 100 वर्ष ऊपर हो गए है।

किसी संस्था को बनाना और संस्था को आगे ले जाना संचालन करना सबके बस की बात नही होती और एमजीआर एक ऐसी संस्था है जो गौरीशंकर ग्राम सेवा मंडल मुंबई ने यह कर के दिखा दिखा दिया है। यही एक मात्र पहली उत्तर भारतीय संस्था है। जो 100 वर्ष से अधिक का सफर पूरा कर लिया है।

बता दे कि इस संस्था का स्थापना सन 1914 में किया गया है। वही इस संस्था ने मलाड में अपना 105 वा स्थापना दिवस मनाते हुए संस्था से जुड़े वरिष्ठ सहयोगीयों के साथ समाज के मेधावी विद्यार्थियों लो सम्मानित किया गया।

इस समारोह की का आयोजन मलाड पूर्व के शारदा ज्ञान पीठ इंटरनेशनल स्कूल में स्थापना दिवस व गौहनी समारोह की अध्यक्षता ट्रस्ट बोर्ड के चेयरमैन डॉ0 शारदा प्रसाद शर्मा ने समारोह की शुरुआत दीप प्रज्वलित सरस्वती वंदना के साथ हुई।

वही इस वर्ष मंडल की पहली गौहनी चंदा एंड मुकेश पाण्डेय ने अपनी धर्मपत्नी सरिता पाण्डेय के साथ रुपये 101000 का धनराशि दिया। इस दौरान मंडल अध्यक्ष हरिप्रकाश सिंह ने संस्था के कार्यो पर प्रकाश भी डालते हुए कार्यो की जानकारी दिया।

ये लोग रहे उपस्थित

इस मौके ओर कांग्रेस नेता कृपाशंकर चंद्रकांत त्रिपाठी मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष सोलार सुरेश जैन, सुधाकर उपाध्याय, लल्लन तिवारी यज्ञ नारायण तिवारी डॉ0 राधेश्याम तिवारी, दिनेश चंद उपाध्याय, लोलारक मिश्र राकेश कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

इन्हें किया गया सम्मानित

इस अवसर पर परिचय सुभाष चंद उपाध्याय ने दिया। कार्यक्रम में प्रेम प्रकाश, मिस माया, शंकर मिश्र, मोहित चन्दवक, हीरालाल पांडे, अशोक तिवारी, ओम मंडल के मेधावी विद्यार्थियों, अभिनव त्रिपाठी, अपूर्व उपाध्याय, अनुपम उपाध्याय, डॉ0 मनीष दूबे, सुधांशु सोमवंशी, और सूरज कुमार चौबे को साल पुष्पगुच्छ व ट्राफी देकर रामसेवक पांडे ने सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *