May 7, 2021

Uttar Pradesh Samachar

Hindi News, Today Hindi News, Uttar Pradesh News

जौनपुर : क्रिसमस का पर्व हमे सेवा, त्याग व क्षमताशीलता का संदेश देता है : सुचिता तिवारी

जौनपुर : जिले से चुनावी माहौल में चर्चे में चल रही लोकसभा प्रत्याशी सुचिता तिवारी जी ने कहा कि क्रिसमस हर वर्ष 25 दिसंबर को बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाने वाला त्योहार है। यह त्योहार विश्व मे बड़े ही उत्साह और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।क्योंकि इसी ही दिन लोकोद्धारक, परम, दयालु, गरीबों और रोगियों के सेवक ईसा का जन्मोत्सव हुआ। संसार में ये ईशा मसीह (मृतक को जीवन देने वाला) के रूप में प्रचलित हुए है। इसलिए उन्हें ईसा मसीह कहा जाता है। जैसा हम सभी लोग जानते हैं कि जिस तरह हमारे यहां दशहरा व दीपावली का संबंध हमारे भगवान श्रीराम से और जन्माष्टमी का संबंध भागवान श्रीकृष्ण से है, ठीक उसी प्रकार क्रिसमस का संबंध ईसा मसीह से है,और यह त्योहार हमे सेवा-भाव, त्याग और क्षमाशीलता का संदेश देता है इससे हमें यह प्रेरणा मिलती है की और साथ ही हम इसी प्रेरणा से प्रेरित होकर एक अच्छे कर्म को अंजाम दे सकते हैं। साथ ही सुनीता तिवारी ने यह भी कहा कि 25 दिसंबर के आते ही हमारे घर के बच्चे भी काफी उत्साहवर्धन के साथ इस पर्व को मनाने के लिए उत्सुक होते है, और घर से लेकर स्कूल बाजार हर जगह पूरे हफ्ते भर पहले से ही मानो जैसे इस त्योहार को लेकर बच्चो युवाओं और बुजुर्गो में एक अलग ही उत्साह बना रहता है यह पर्व 25 सितम्बर से नववर्ष तक चलता है। लोग अपने प्रियजनों में मिठाइयां बांटते हैं। एक-दुसरे के घर जाकर बधाई देते हैं। इस दिन रात्रि को दीपकों और बत्तियों से सारा नगर प्रकाशित हो उठता है। क्रिसमस की रात को बच्चों के सिरहाने के निचे टाफियां, खिलौने और मेवे रख दिये जाते हैं। प्रातः काल सुबह होने पर बच्चों को बताया जाता है कि दयालु वृद्ध सान्ता क्लाज उपहार उन के लिए रख गया है।