कांग्रेस कार्यकर्ता ना हो निराश, हौसला तोड़ने के लिए है एग्जिट पोल : प्रियंका गांधी

दिल्ली : लोकसभा चुनाव सम्पन्न होने के बाद न्यूज़ चैंनलो व एजेंसियों के प्रतिक्रिया एग्जिट पोल आने के बाद से विपक्षी पार्टियों में हार का डर जैसे माहौल बन गया है तो वही इस हार के कारण अब इवीएम को दोष ठहराने लगे है।

वही मंगलवार को कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने एक ऑडियो संदेश जारी किया है। न्यूज़ चैंनलों और एजेंसियों के एक्जिट पोल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता हताश व निराश ना हो। एक्जिट पोल हमारे हौसले को तोड़ने के लिए है। हमने जो मेहनत की है वह रंग लाएंगी।

वही ईवीएम को लेकर प्रियंका गांधी टिप्पणी किये बगैर कहा की कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को स्ट्रांग रूम पर नजर रखनी चाहिए। प्रियंका गांधी इन सभी कार्यकर्ताओं से 23 मई तक धैर्य बनाए रखने की अपील की है। एक्जिट पोल के बाद जहां विपक्षी दलों के नेता ईवीएम पर शक प्रकट कर रहे है, वही प्रियंका गांधी का संदेश स्वागत योग्य है। उन्होंने अपने संदेश से कार्यकर्ताओं की हौसला अफजाई की है।

उन्होंने कहा कि वैसे भी मतदान के बाद ही सही परिणाम सामने आएगा। परिणाम से पहले यदि कांग्रेस कार्यकर्ता हताश व निराश होता है तो संगठन के लिए अच्छा नही है। परिणाम जो भी आए, लेकिन कार्यकर्ताओं का हौसला बुलंद रहना चाहिए। प्रियंका गांधी ने सूझबूझ दिखाते हुए कार्यकर्ताओं की हौसला अफजाई ही कि है।

वही प्रियंका गांधी के बयान का इसलिए स्वागत हुआ चाहिए कि उन्होंने ईवीएम पर कोई आशंका व्यक्त नही की है। वही जबकी अन्य दलों के नेता अपनी हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ रहे है। कांग्रेस के ही नेता राशिद अल्वी ने तो हद ही कर दिया है अल्वी का कहना है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चुनाव आयोग ने राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जीत इसलिए करवाई ताकि लोकसभा चुनाव के परिणाम पर कोई अंगुली न उठाएं जा सके।

अल्वी की नजर में इन तीनो राज्यों में कांग्रेस की जीत का श्रेय राहुल गांधी की मेहनत को नही बल्की नरेंद्र मोदी और चुनाव आयोग की रणनीति का है। जबकि अल्वी के इस बयान पर कांग्रेस सहमत नही है यही वजह है कि प्रियंका गांधी के बयान की याबी देशभर में प्रशंसा हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *